GURBAKSH SINGH CHAHAL : स्लम से निकलकर 16 की उम्र में खोली कंपनी ओर 25 साल में ही बने अरबपति

0
43
GURBAKSH SINGH CHAHAL
GURBAKSH SINGH CHAHAL

“तब तक अपने काम पर काम करें जब तक की आप सफल नहीं हो जाते I”

GURBAKSH SINGH CHAHAL SUCCESS STORY : अगर आप एक दिन मे सफल होना चाहते है तो यह बात समझ लो की सफलता किसी को यूं ही विरासत मे नहीं मिलती है बल्कि इसके लिए आपको फल की चिंता किए बिना निरंतर कठिन मेहनत करनी होती है ओर यही मेहनत आपको एक दिन सफलता तक पहुचाती है, हर बिजनेसमेन की यह चाहत होती है की उसका व्यवसाय दिन-प्रतिदिन तरक्की करे.

लेकिन बहुत कम बिजनेसमेन होते है जो सफलता के लिए पूर्ण समर्पण के साथ मेहनत करते है. आज हम ऐसे ही एक सफल बिजनेसमेन के बारे मे आपको बताने जा रहे है जो एक अपने हौंसले के दम पर स्लम फैमिली से होने के बावजूद आज विश्व के अरबपतियों की कतार मे है. ओर उनका नाम है गुरबक्श सिंह चहल (GURBAKSH SINGH CHAHAL).

इन्होंने सिर्फ 16 साल की उम्र मे ही अपनी पढ़ाई को अलविदा करते हुए अपनी पहली कंपनी को संभाल लिया, ओर 25 साल की उम्र तक आते-आते तो इन्होंने कीर्तिमान स्थापित करते हुए 23 अरब रुपये की दो ऐड कंपनियों की स्थापना कर दी. इतना ही नहीं इन्होंने इस कम उम्र मे याहू जैसी बड़ी कंपनी के साथ मे अरबों रुपये की दिल करने मे भी कामयाबी हासिल की. आज गुरबक्श चहल को दुनिया मे विज्ञापन किंग के नाम से पहचाना जाता है.

यह भी पढे : KALPANA SAROJ : मजदूरी कर 2 रुपये से 500 करोड़ का साम्राज्य खड़ा करने वाली महिला

GURBAKSH SINGH CHAHAL

GURBAKSH SINGH CHAHAL का बचपन ओर स्लम का संघर्ष

गुरबख्श सिंह चहल का जन्म पंजाब राज्य के तरनतारन इलाके में हुआ था. इनके जन्म के तीन साल बाद ही इनका पूरा परिवार अमेरिका मे शिफ्ट हो गया. अमेरिका में आर्थिक स्थिति खारब होने के कारण इनको अपने परिवार सहित स्लम में रहने के लिए विवश होना पड़ा. यहा पर किसी तरह छोटे-मोटे काम करते हुए इनके परिवार का गुजारा चल रहा था.

गुरबख्श सिंह को इनके बचपन से ही टेक्नोलॉजी, इंटरनेट ओर मशीनों में बहुत ज्यादा दिलचस्पी थी किन्तु संसाधनो के अभाव के कारण वे ज्यादा कुछ नहीं कर पाते थे. हालांकि उन दिनों इंटरनेट एडवरटाइजिंग में इनकी दिलचस्पी दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही थी, अपनी इसी दिलचस्‍पी ने गुरबख्श को अपनी खुद की कंपनी शुरू करने के लिए प्रेरित किया. इन्होंने मात्र 16 साल की उम्र में ही ‘क्लिक वेंचर’ नाम से अपनी पहली कंपनी भी खोल ली.

यह भी पढे : RAHUL SHARMA – ट्रक की बैटरी से पीसीओ फ़ोन को चार्ज होते देख आया आईडिया और बना दी भारत की पहली मोबाइल कंपनी “माइक्रोमैक्स”

GURBAKSH SINGH CHAHAL

16 साल की उम्र मे पढ़ाई छोड़ शुरू की कंपनी  

इन्होंने इतनी चोटी उम्र मे अपनी कंपनी तो खोल ली किन्तु इसके कारण गुरबख्श का पढ़ाई से नाता पूरी तरह से टूट गया था और ऐसे मे वो पूर्ण रूप से दृढ़ संकल्पित होकर अपने बिज़नेस को आगे बढ़ाने में लग गये. उस समय में ऐड टेक जगत का कांसेप्ट बाजार मे नया ही था और एडवरटाइजिंग की डिमांड भी आज के मुकाबले बहुत कम थी. अपनी कंपनी को शुरू करने के शुरुआती छह महीने तक उन्हें कोई कॉन्‍ट्रैक्‍ट भी नहीं मिला.

इस तरह से खाली बेठे रहने से उन्हें सिर्फ निराशा ही हाथ लगी किन्तु इसके बावजूद उन्होंने हार नहीं मानी और अपनी कोशिशों को आगे भी जारी रखा. कुछ महीनों बाद उन्हें अपना पहला कान्ट्रैक्ट लंदन के एक प्रोग्रामर से एडवरटाइजिंग क्लिक प्रोग्राम के लिए मिला.

इसके बाद इनकी मेहनत के कारण उन्हे धीरे-धीरे ग्राहक मिलते चले गये और उनकी कंपनी बड़ी होती गई. जब बीतते हुए दिनों के साथ उनके ग्राहकों की संख्या में बहुत अधिक संख्या में इजाफा हुआ तो उन्होंने ब्लू लिथियम और रेडियमवन एड क्लिक नाम से दो और कंपनी शुरू की.

यह भी पढे : YUVRAJ AMAN SINGH – एक टेबल से खड़ा किया रिपेयर (Refurbished) मोबाइल का साम्राज्य, विदेशो में भी ब्रांच

GURBAKSH SINGH CHAHAL

25 साल की उम्र मे बने अरबपति

बाद मे साल 2007 में गुरबख्श ने अपनी एक कंपनी ब्लू लिथियम को 30 करोड़ डॉलर (लगभग 2000 करोड़ रुपए) में याहू को बेच दिया. इस बड़ी डील के बाद विश्व भर के ऐड टेक जगत में उनका नाम हर कोई जानने लगा. इस करोड़ों रुपये की डील ने 25 साल की छोटी उम्र में चहल को एक अरबपति बना दिया था.

इस डील के बाद चहल रुके नहीं बल्कि इन्होंने इंटरनेट एडवरटाइजिंग की दुनिया में अपनी पैठ को और मजबूती प्रदान करने के लिए ‘ग्रेविटी-4’ नाम से एक और कंपनी बनाई, उन्होंने इस कंपनी का मुख्‍यालय सैन फ्रांसिस्‍को में स्थापित किया.

यह भी पढे : SRIKANTH BOLA – नेत्रहीनता के अभिशाप को वरदान में बदलकर बनाया 50 करोड़ से ज्यादा का कारोबार

GURBAKSH SINGH CHAHAL

द ओप्रा विन्फ्रे शो मे हो चुके है सम्मानित

चहल को उनकी अप्रत्याशित प्रतिभा व हैरतंगेज प्रदर्शन के लिए अमेरिका के मशहूर शो ‘द ओप्रा विन्फ्रे’ में मेहमान के तौर पर बुलाया गया.  इस शो में उन्‍हें ‘मोस्ट इलिजिबल बैचलर’ के सम्मान से भी पुरस्कारित किया गया.

गुरबक्श सिंह चहल इतनी कम उम्र मे अपने स्लम बॉय से अरबपति बिजनेसमैन बनने के सफ़र को तय करने के कारण दुनिया भर में युवाओं के लिए आइडल माने जाते हैं.

ओर एक बात ओर आप इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों को शेयर करे ताकि लोग इससे प्रेरणा ले सके.

तो दोस्तों फिर मिलते है एक और ऐसे ही किसी प्रेणादायक शख्शियत की कहानी के साथ…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here