IAS ANKIT PANNU : पहले ही अटेम्पट में सफल हुए किंतु IAS ऑफ़िसर बनकर ही माने

0
156
IAS ANKIT PANNU

बारिश की बूँदें भले ही छोटी हों
लेकिन उनका लगातार बरसना
बड़ी नदियों का बहाव बन जाता है
वैसे ही हमारे छोटे छोटे प्रयास भी
जिंदगी में बड़ा परिवर्तन ला सकते हैं.

Success Story Of IAS Ankit Pannu: दिल्ली के रहने वाले अंकित पन्नु (IAS ANKIT PANNU) ने साल 2017 में अपने दूसरे प्रयास में 31 वीं रैंक के साथ सिविल सर्विसेस परीक्षा पास करते हुए यूपीएससी (UPSC) में टॉप भी किया था. यह अंकित का दूसरा प्रयास था.

इससे पहले दिए अपने पहले प्रयास में भी उनका चयन हो गया था परंतु उनकी रैंक 444 आई थी. इस वजह से उन्हें आईआरएस (सीई एंड ई) की सर्विस एलॉट हुयी थी अंकित अपने इस पद से संतुष्ट नहीं थे क्योंकि उन्होंने हमेशा से ही आईएएस ऑफ़िसर बनने का सपना देखा था.

अंकित ने एक बार फिर से प्रयास करते हुए पिछली गलतियों से सीख ली ओर लग गए यूपीएससी की तैयारी में. अपनी दूसरी कोशिश में अंकित को यूपीएससी की परीक्षा में न सिर्फ सफलता मिली बल्कि उन्हें अच्छी रैंक की वजह से आईएएस ऑफ़िसर का पद भी मिला. आइए जानते हैं अंकित से इस परीक्षा की तैयारी से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण टिप्स.

यह भी पढ़े : IAS ABHILASHA ABHINAV : शादी के दबाव के आगे न झुकते हुए बनी आईएएस ऑफिसर

IAS ANKIT PANNU

IAS ANKIT PANNU की यूपीएससी की स्ट्रेटेजी

अंकित पन्नु ने अपनी school की शिक्षा दिल्ली से ही पूर्ण की ओर उसके बाद उन्होंने दिल्ली टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी से इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की. अंकित इंजिनियरिंग करने से पहले ही अपने मन में यह बात सोच चुके थे कि उनकी लाइफ का अल्टीमेट गोल आईएएस ऑफ़िसर बनना ही है.

अंकित के मन में यूपीएससी प्लान साफ होने के कारण उन्होंने इंजीनियरिंग के तीसरे साल से ही यूपीएससी की परीक्षा की तैयारी करनी शुरू कर दी थी. ओर जैसे ही उनका ग्रेजुएशन पूरा हुआ तो उन्होंने अपना पूरा फ़ोकस सिर्फ़ यूपीएससी परीक्षा पर केंद्रित करना शुरू कर दिया.

एक इंटरव्यू में अंकित बताते हैं कि यूपीएससी परीक्षा की तैयारी जितनी जल्दी शुरू की जाए उतना अच्छा रहता है.

इस परीक्षा की तैयारी से सम्बंधित आधारभूत जानकारियां जैसे सिलेबस, बुक लिस्ट वगैरह आप पढ़ाई के साथ ही वक्त निकालकर तैयार कर सकते हैं.

इससे आपको यह फ़ायदा होगा कि जब आप यूपीएससी की पढ़ाई करेंगे तो तो आप केवल पढ़ाई पर पूरा ध्यान दें पाएँगे क्योंकि सारा स्टडी मैटीरियल तो पहले से ही इकट्ठा हो चुका है, आपकी यूपीएससी की स्ट्रेटजी तो पहले से ही बन चुकी होगी ऐसे में आपको सिर्फ़ अपने द्वारा बनाए गए प्लान के अनुसार पढ़ाई करना बाकी है.

यह भी पढ़े : IAS SWATI SHARMA : तीन बार असफल होने के बाद चौथे प्रयास मे बनी यूपीएससी टॉपर

IAS ANKIT PANNU

एक इंटरव्यू से मिली यूपीएससी की प्रेरणा

अंकित पन्नु कहते हैं की सिविल सेवा का क्षेत्र चुनने का हर व्यक्ति का अपना कारण होता है. कोई व्यक्ति जनता के लिए कुछ करना चाहता है तो किसी को एक स्टेबल जॉब चाहिए होती है ओर किसी वक्ति को प्रशासनिक पद का रुतबा पसंद होता है.

वे अपने बारे में बताते हैं कि उन्होंने काफी समय पहले एक महिला ऑफिसर का इंटरव्यू पढ़ा था जिसमें उस महिला ने बताया था कि कैसे उनके एक साइन मात्र से सालो से अंधेरे में जी रहे एक पूरे कस्बे को बिजली मिलने लगी थी.

उस महिला ऑफिसर के द्वारा किए गए इस विशेष कार्य के अनुभव ने उन्हें बहुत गौरवान्वित ओर रोमांचित किया था. अंकित यह इंटरव्यू पढ़कर काफी प्रभावित हुए और उन्होंने उसी दिन यह तय कर लिया था कि वे भी बड़े होकर एक दिन आईएएस ज़रूर बनेंगे क्योंकि एक IAS ऑफ़िसर इतने लोगों की जिंदगी को सीधे तौर पर इतना प्रभावित कर सकते हैं.

उन्होंने उसी समय यह प्रण ले लिया की वे भी लोगों की जिंदगी में सकारात्मक और बड़े बदलाव लाकर उस खुशी और संतुष्टि को महसूस करेंगे जो उस महिला अधिकारी ने की थी. बस यहीं से अंकित ने UPSC की परीक्षा के लिए अपनी कमर कस ली और ठान लिया की वे किसी भी हालत में सिविल सर्विसेस में ही जाएंगे.

यह भी पढ़े : IAS DEEKSHA JAIN : स्वयं पर विश्वास कर अपनी मेहनत से बनी आईएएस ऑफिसर

IAS ANKIT PANNU

निगेटव लोगों से रखे दूरी

अंकित पन्नु कहते हैं यूपीएससी की तैयारी करने वाले कैंडिडेट्स की ज़िंदगी में कई बार ऐसे पल ज़रूर आते हैं, जब उन्हें अपने किसी रिलेटिव या निगेटिव लोगो से निगेटिव बाटे सुनने को ज़रूर मिलती है. अंकित जब यूपीएससी की तैयारी कर रहे थे तो ऐसे लोगों ने अंकित से भी कहा था कि जेईई तो तुमसे हुआ नहीं ऐसे में तुम यूपीएससी क्या करोगे.

अंकित के अनुसार आपको डिमोटिवेट करने वाले ऐसे लोगों से आप सदैव दूर रहें. ये लोग एनर्जी सकर्स होते हैं जो केवल आपको डिमोटिवेट करने ओर आपके लक्ष्य से आपको भटकाने के लिए ही आपके पास आते हैं. अंकित इस बारे में कहते हैं, आप तैयारी के दौरान किसी भी व्यक्ति की बात पर ध्यान न दीजिए ओर सिर्फ़ अपने मन की आवाज़ को सुनिए, आप अपने सपने पर सदैव भरोसा रखिए.

यूपीएससी की तैयारी से पूर्व सबसे पहले उसका सिलेबस पता कीजिए ताकि तैयारी के दौरान आप जैसे ही किताब में कोई टॉपिक देखें तो आपको यह बात पता चल जाए कि यह सिलेबस में है या नहीं. एक लिस्ट बनाए ओर उसे अपनी स्टडी टेबल पर चिपका लें.

इसके साथ ही पहले प्रॉपर स्ट्रेटजी प्लान करें ओर उसके बाद उसके हिसाब से तैयारी शुरू करें. हर हफ्ते अपना  टाइमटेबल बनाएं और यह टाइमटेबल भी अपनी स्टडी टेबल पर लगा लें और हर दिन का आपका टारगेट उसी दिन पूरा करें.

यह भी पढ़े : IAS PRATHAM KAUSHIK : UPSC मे पहली बार फैल होने के बाद ऐसे प्राप्त की 5 वीं रैंक

IAS ANKIT PANNU

तैयारी में निरंतरता है जरुरी

अंकित भावी आईएएस एस्पिरेंट्स को यही सलाह देते हैं कि यूपीएससी परीक्षा पास करने के लिए तैयारी में कंसिसटेंसी बनाए रखना बहुत जरूरी है. आप अपनी क्षमता के अनुसार जितने भी घंटे आपके लिए सफीशियेंट हों, उतना पढ़ें परंतु हर रोज ज़रूर पढ़ें.

अंकित पन्नु खुद को इस बात के लिए लकी मानते हैं कि वे दिल्ली के राजेन्द्र नगर में तैयारी करने के लिए नही गए वरना वे वहाँ पर ही फँस जाते क्योंकि वहां पर इतने निगेटिव लोग हैं जिनकी निगेटीविटी से आप चाहे तो भी बच ही नहीं सकते. अंकित यूपीएससी की तैयारी के लिए घर से ही पढ़ाई करने को अधिक महत्व देते हैं.

अंकित अपने पहले अटेम्पट में अच्छी रैंक न आने का कारण निबंध के पेपर पर अधिक ध्यान न देने को मानते हैं. वे इस बारे में कहते हैं कि उन्होंने निबंध के पेपर में बहुत कम स्कोर किया था. किंतु अगली बार उन्होंने अपनी भूल को सुधारते हुए खूब अभ्यास किया और हर पेपर में अपना बेस्ट दिया.

वे यूपीएससी में सफलता प्राप्त करने के बारे में कहते हैं कि जब मेरे जैसे कैंडिडेट अगर पहली बार में यूपीएससी की परीक्षा पास कर सकते हैं तो आप भी इसे आसानी से पास कर सकते हैं. अंकित पन्नु के अनुसार कुछ कैंडिडेट्स तो ऐसे भी होते हैं जो तीन-तीन बार परीक्षा देते हैं ओर हर बार सेलेक्ट भी होते हैं.

अगर दूसरे स्टूडेंट ऐसा कर सकते हैं तो आप क्यों नहीं. अंकित ऐसे कैंडिडेट्स के उस माइंडसेट को ठीक नहीं मानते जिसमें वे कहते हैं कि उन्होंने अपना पहला अटेम्पट तो केवल यूपीएससी के पेपर के एक्सपीरियंस के लिए दिया था. वे कहते हैं अगर ऐसा सोचोगे तो पहला अटेम्पट सच में आपके लिए अनुभव ही बनकर रह जाएगा.

हम अपने मन में जैसा सोचते हैं वैसा ही भी परफॉर्म करते हैं. इसलिए यूपीएससी की परीक्षा को पास करने के लिए सही माइंडसेट के साथ पॉज़िटिव अप्रोच का होना बहुत जरूरी है. सही माइंडसेट के साथ अगर सही दिशा में सही तरीक़े से मन लगाकर मेहनत करें तो एक दिन आपको सफलता जरूर मिलेगी.

ओर एक बात ओर आप इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों को शेयर करे ताकि लोग इससे प्रेरणा ले सके. 

तो दोस्तों फिर मिलते है एक और ऐसे ही किसी प्रेणादायक शख्शियत की कहानी के साथ…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here