हमारे देश में सिविल सर्विसेज एक्जाम, (UPSC) की गिनती सबसे बड़ी प्रशासनिक परीक्षा के तौर पर की जाती है. औसतन एक हज़ार पदों के लिए क़रीब 10 लाख कैंडिडेट्स UPSC प्री एक्जाम में बेठते है

यूपीएससी एक्जाम की तैयारी को लेकर कैंडिडेट्स के मन में कई प्रकार के भ्रम पैदा होते है.आइए आज जानते है कौन-कौन से भ्रम हमारे मन में आते है.

यह देश की सबसे कठिन परीक्षा है - आईएएस की तैयारी करने वाले ज्यादातर कैंडिडेट्स मानते है की यूपीएससी परीक्षा देश की सबसे कठिन परीक्षा है

केवल एकेडमिक टॉपर्स ही यूपीएससी परीक्षा को क्रेक कर सकता है - यह UPSC के बारे में सबसे बड़ा भ्रम है, ज़्यादातर कैंडिडेट्स को ऐसा लगता है की एकेडमिक टॉपर्स ही UPSC परीक्षा को क्रेक कर सकता है. जबकि ऐसा बिल्कुल भी नहीं है.

दिनभर में 16-18 घंटे की पढ़ाई है जरूरी - यह कैंडिडेट्स के ऊपर पूरी तरह से निर्भर करता है, की वह कितना घंटा पढ़ाई कर सकता है. कुछ लोग तो 4-5 घंटे पढ़कर ही यूपीएससी एक्जाम को क्रेक कर लेते है

यूपीएससी परीक्षा में सफल होने के लिए हर जानकारी को याद करना जरुरी है - विशेषज्ञों का कहना है की कैंडिडेट्स में जानकारी रटने से ज्यादा कांसेप्ट को समझने और संबंधित विषय को एनालिसिस करने की समझ होनी चाहिए

यूपीएससी परीक्षा में सफल होने के लिए कोचिंग में एडमिशन लेना बहुत जरुरी है - सिर्फ कोचिंग ही इस एक्जाम की तैयारी का पहला और अंतिम विकल्प नहीं है. यूपीएससी एक्जाम क्रेक करने के लिए सेल्फ स्टडी पर अधिक ध्यान केन्द्रित करे

राइटिंग स्किल में सुधार नहीं किया जा सकता है - बेहतर होगा की आप इस एक्जाम की तैयारी के दौरान अपने सवालों के जवाब लिखने की प्रेक्टिस करे. इससे आपके कोन्फ़िडेंस का लेवल बढ़ेगा और आपके लिखने की स्पीड भी

आपको UPSC प्रिलिम्स में ज़्यादा से ज़्यादा सवाल अटेम्पट करने चाहिए - प्रिलिम्स में हर ग़लत जवाब के लिए नेगेटिव मार्किंग का प्रावधान है, इसलिए आप पूछे गए सवालों का जवाब सिर्फ़ अंदाज़ा लगाकर न दे.

UPSC की तयारी के लिए अधिक से अधिक किताबे पढ़े - यूपीएससी के विशेषज्ञों का कहना है की अधिक से अधिक किताबे पढ़ने की जगह कैंडिडेट को UPSC की बेस्ट बुक से पढ़ाई करनी चाहिए और अधिक रिवीजन करना चाहिए

अगर आप भी UPSC या किसी अन्य प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे हो तो यूपीएससी सक्सेस स्टोरी पढ़े    www. khabarapkeliye.com